प्याज़ की स्थिति की विवेचना ::२०१९ और अब २०२०

प्याज ने किया २०१९ में परेशान: प्याज की कीमत में भारी उछाल के कारण २०१९ में आम आदमी काफी परेशान रहा. केवल आम आदमी ही नहीं बल्कि सरकार को भी काफी संघर्षो से जूझना पड़ा. देश के कई हिस्सों में बारिश और बाढ़ के कारण प्याज़ कि कीमत १५० रुपये प्रति किलो के पार चली गई. वर्तमान समय में भी कई स्थानों में प्याज़ काफी महंगा है. एक सूचना क अनुसार २०१९ में सरकार ने ५६००० टन प्याज का बफर स्टॉक रखा था इसके बावजूद स्टॉक पूरा नहीं पढ़ा. यही कारण है कि सरकार को एमएमटीसी के जरिए विदेशों से प्याज मंगाना पढ़ा. ऐसा नहीं...
More

IMPACT OF RICE CULTIVATION ON GLOBAL WARMING

morning-light-paddy
The atmospheric concentration of CH4 has been increasing rapidly in recent years. Because it is a radiative trace gas and takes part in atmospheric chemistry, the rapid increase could be of significant environmental consequence. The scientific report of the Intergovernmental Panel on Climate Change concluded that a 10 to 15% reduction in the CH4 emission from individual sources would stabilize the concentration in the atmosphere. Of the wide variety of sources, rice paddy fields are considered a...
More

प्रतिबंधित कीटनाशकों को भारत में खुलेआम बेचा और प्रयोग किया जा रहा है|इस से बचें और इसे रोकें|

प्रतिबंधित कीटनाशक
प्रतिबंधित कीटनाशक - भारत में खुलेआम बेचा और प्रयोग किया जा रहा है| आपसे बेहतर इस तथ्य को कौन समझ सकता है कि खेती के मामले में जहर पर हमारी निर्भरता कितनी बढ़ चुकि है। फसल उगाने से पहले खेत में जहर डालना शुरू करते हैं तो भण्डारण तक नहीं रूकते। बात यहीं खत्म हो जाती तो गनीमत था, अब तो फल-सब्जियों को पकाने और देर तक ताजा रखने के लिए भी जहर का इस्तेमाल धड़ल्ले से हो रहा है। एक आश्चर्यजनक सच्चाई यह भी है कि दुनिया भर के प्रतिबंधित कीटनाशक को भारत में खुलेआम बेचा और प्रयोग किया जा रहा है। फल-सब्जियो...
More

मिट्टी की उर्वरकता में सुधार-मिट्टी का स्वास्थ्य कार्ड भूमि संरक्षण और सूक्ष्‍म पोषक तत्‍व

मिट्टी की उर्वरकता में सुधार
मिट्टी की उर्वरकता में सुधार-मिट्टी का स्वास्थ्य कार्ड भूमि संरक्षण और सूक्ष्‍म पोषक तत्‍व   1.  तिलहन, दलहन, पाम ऑयल और मक्का की एकीकृत योजना (आईएसओपीओएम) के अंतर्गत: 1.1 जिप्सम / पाइराइट / चूना / डोलोमाइट की सप्लाई -> 750 प्रति हेक्टेयर 1.2 अभाव वाले क्षेत्रों में सूक्ष्म पोषक तत्वों की सप्लाई -> 500 प्रति हेक्टेयर 2. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन (एन एफ एस एम) के अंतर्गत: 2.1 गेहूं में जिप्सम की सप्लाफई -> एक साथ जिप्सिम और सूक्ष्म पोषक तत्वों के लिए गेहूं के ...
More

What is GST & Its Impact on Agriculture Sector ?

gst
So there is an uproar of GST ,GST ,,GST..,... all around since few months.  Let's understand what is GST first?     What is GST? For a Layman GST is "A single comprehensive tax levied on goods and services consumed in an economy" Few interesting things you would like to know about GST The concept of GST appeared first time in India , in 2006-2007 Union Budget speech. Concept of GST was first devised by a German economist during 18th Centur...
More

ऐसे व्यवसाय जिनसे आप करोड़ों कमा सकते हैं, वह भी थोड़े ही खर्चे में!

DairyFarming
किसान भाइयों ये सभी वो कृषि(farming) व्यवसाय  है, जिनकी आज मांग हर जगह है और आप इन्हें शुरू करके काफी पैसा कमा सकतें हैं किसान भाई कोई भी काम शुरू करने से पहले पूरी तरह अपने आसपास के बाजार की पूरी जानकारी ले । हर व्यवसाय में लाभ के साथ जोखिम भी होता है ये हमेशा धयान रखे । तुलसी की खेती(holy basil Farming) एलोवेरा की खेती (Aloevera Farming)   मशरूम की खेती(Mushroom Farming) Mushrooms are not plants and require different conditions for optimal growth. Plants develop through ...
More

Cluster farming / Organic Farms-India is approaching towards- Special Organic farming zones.

cluster-farming
What is "Cluster" Farming? Cluster farming- Yes its in the news , after turning Sikkim into a fully organic state, India is now looking  at a "cluster" approach to increase area under chemical-free (organic)farming in other states.  Many states in India have already started opting for this approach, by building exclusive organic farming zones. Lets see how much each state leading the pack of clusters (cluster farming) with: Maharashtra - 932 (leader) Madhya Pradesh- 880 Rajasthan ...
More