प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना: एक साल हुआ पूरा……कितने किसानों को मिला उनका हक़ कितने रहे वंचित………

क्या है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना:

यह योजना किसानों कि आर्थिक सहायता करने के लिए दिसंबर २०१८ में  शुरू की गयी थी, जिससे हमारे किसानों को बीज,खाद, कृषि उपकरों आदि को खरीदने में मदद मिले. इस योजना के तहत किसानों को हर साल २-२ हजार की ३ किश्तें मिलती हैं  यानि की साल में हर किसान को ६ हजार रूपये उसके बैंक खाते में जमा किये जाते हैं .

You Can Also Check Out :-  प्याज़ की कीमत में उछाल 

किसान सम्मान निधि योजना

किसान सम्मान निधि योजना

कितना सफल कितना असफल :

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को एक साल पूरा हो गया. अफ़सोस की बात ये है की १० करोड़ से अधिक किसानों तक अंतिम किश्त नहीं पहुंच पायी. १ दिसंबर २०१९ को देश के सभी १४.५ करोड़ किसान भाईयो तक ६-६ हजार रूपये पहुंच जाने चाहिए थे पर तीसरी किश्त केवल ३.८६ करोड़ किसानों तक ही पहुंच पायी. जहाँ ८७ हजार करोड़ रूपये किसानों तक पहुंचना था वहाँ मात्र ३५ हजार करोड़ ही किसानों तक पहुंच पाए. इसका कारण ये रहा कि अब तक किसानों के नामांकन कि जिम्मेदारी स्थानीय पटवारी,राजस्व अधिकारी और राज्य सरकारों द्वारा नामित नोडल अधिकारी कि थी, जो किसानों तक उनका हक़ पहुंचाने में असफल रहे..कई हद तक किसानों की अधूरी जानकारी भी इसकी जिम्मेदार रही.

You Can Also Check Out :-  लौकी की उन्नत खेती 

क्या करें किसान :
किसानों तक उनका हक़ पहुंचाने के लिए सरकार ने नयी नीति अपनायी है.इस नीति के तहत साझा सेवा केंद्र बनाये गए हैं. अब किसान खुद अपने नजदीकी केंद्र जाकर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं, रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. अगर कोई किसान पहले से रजिस्ट्रेशन करवा चुका है और किसी तरह का बदलाव चाहता है तो वो भी साझा सेवा केंद्र जा सकता है. इस तरह से किसान अपने हक़ का पैसा अपने अकाउंट में जमा करा सकता है.

You Can Also Check Out :-  धनिया  की उन्नत खेती

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *